shilanyas

शिलान्यास – सम्पूर्ण वास्तु दोष – shilanyas – sampurna vastu dosh nivaran

गृहारंभ हेतु नींव खात चक्रम और वास्तुकालसर्प दिशा चक्र में प्रदर्शित की गई सूर्य की राशियां और राहु पृष्ठीय कोण नींव खनन के साथ-साथ शिलान्यास करने, बुनियाद भरने हेतु, प्रथम चौकार अखण्ड पत्थर रखने हेतु, खम्भे (स्तंभ) पिलर बनाने हेतु इन्ही राशियों वकोणों का विचार करना चाहिए। जो क्रम नींव खोदने का लिखा गया था …

शिलान्यास – सम्पूर्ण वास्तु दोष – shilanyas – sampurna vastu dosh nivaran Read More »