rog ke prakaar ke liye

रोग के प्रकार के लिए – पुरुष रोग का ज्योतिषी द्वारा उपचार – rog ke prakaar ke liye – purush rog ka jyotish dwara upchar

रोग के प्रकार के लिए रोग के प्रकार के लिए पहले, छठे और बारहवें भाव को भी अच्छी तरह देखना चाहिए। —–छठे भाव का कारक मंगल व शनि हैं। मंगल रक्त का कारक और शनि वायु का कारक है। ये भी रोग कारक हैं। आठवां भाव रोग और रोगी की आयु का सूचक है। आठवें …

रोग के प्रकार के लिए – पुरुष रोग का ज्योतिषी द्वारा उपचार – rog ke prakaar ke liye – purush rog ka jyotish dwara upchar Read More »