grahon ka kaarakatv bhi samajhna zaroori hai

ग्रहों का कारकत्व भी समझना जरूरी है – चौदहवां दिन – Day 14 – 21 Din me kundli padhna sikhe – grahon ka kaarakatv bhi samajhna zaroori hai – Chaudahavaan Din

ग्रह की परिभाषा के अनुसार तथा उसके भाव के अनुसार उसका रूप समझना बहुत जरूरी होता है, जैसे शनि वक्री होकर अगर अष्टम में अपना स्थान लेगा तो वह बजाय बुद्धू के बहुत ही चालाक हो जायेगा, और गुरु जो भाग्य का कारक है वह अगर भाग्य भाव में जाकर बक्री हो जायेगा तो वह …

ग्रहों का कारकत्व भी समझना जरूरी है – चौदहवां दिन – Day 14 – 21 Din me kundli padhna sikhe – grahon ka kaarakatv bhi samajhna zaroori hai – Chaudahavaan Din Read More »