kaise ho ghar ke balcony?

कैसी हो घर की बॉलकोनी? – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – kaise ho ghar ke balcony? – vastu shastra ke anusar ghar

बॉलकोनी होने से भवन की भव्यता में चार-चांद लग जाते हैं। बॉलकोनी ऐसे स्थान पर निर्मित करवानी चाहिए जहां प्रात:कालीन सूर्य का प्रकाश एवं प्राकृतिक हवा सहज सुलभ हो। बॉलकोनी से हवा व प्रकाश घर में भी प्रवेश करना चाहिए।बॉलकोनी बनवाते समय इन बातों का ध्यान रखें-1- यदि भूखण्ड पूर्वोन्मुखी या उत्तोन्मुखी हो तो वास्तु …

कैसी हो घर की बॉलकोनी? – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – kaise ho ghar ke balcony? – vastu shastra ke anusar ghar Read More »