;

vastu purush

vaidik kal kya hai vastu purush?

वैदिक कालक्या है वास्तुपुरुष? – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik kal kya hai vastu purush? – vedic vastu shastra

वास्तु पुरुष की कल्पना भूखंड में एक ऐसे औंधे मुंह पड़े पुरुष के रूप में की जाती है, जिससे उनका मुंह ईशान कोण व पैर नैऋत्य कोण की ओर होते हैं! उनकी भुजाएं व कंधे वायव्य कोण व अग्निकोण की ओर मुड़ी हुई रहती है! देवताओं से युद्ध के समय एक राक्षस को देवताओं ने …

वैदिक कालक्या है वास्तुपुरुष? – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik kal kya hai vastu purush? – vedic vastu shastra Read More »

vaastu purush ke dosh

वास्तु पुरुष के दोष – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu purush ke dosh – vedic vastu shastra

यह एक कठिन विद्या है, जिसमें भौतिक निर्माण कृत्य में कब कौन देवता क्रोधित हो जाए व क्या परिणाम देंगे, इनका ज्ञान आवश्यक है! कुछ सामानय गृह दोष व उनके परिणाम बताए जा रहे हैं, जो जनोपयोगी हैं! सामान्य जन इनका बिना किसी विशेषज्ञ की मदद से भी उपयोग कर सकते हैं! देवतागण यदि रुष्ट …

वास्तु पुरुष के दोष – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu purush ke dosh – vedic vastu shastra Read More »

rajmarg par sthit makan ki vaastu

राजमार्ग पर स्थित मकानों का वास्‍तु – वास्तुदोष निवारण – rajmarg par sthit makan ki vaastu – vastu dosh nivaran

1- यदि किसी मकान का कोना सड़क या राजमार्ग की ओर हो अथवा मकान का शयन कक्ष सड़क की तरफ हो तो, दोनो स्थितियां वास्तु के अनुसार अशुभ मानी जाती है। ऐसे मकान में गृहस्वामी शारीरिक रूप से अस्वस्थ्य रहता है तथा नवयुवकों के कार्यो में बाधायें आया करती है।उपाय- शयन कक्ष की दिशा बदलें …

राजमार्ग पर स्थित मकानों का वास्‍तु – वास्तुदोष निवारण – rajmarg par sthit makan ki vaastu – vastu dosh nivaran Read More »

vaastu disha

वास्तु दिशा – वास्तु और कक्ष दशा – vaastu disha – vastu aur kaksha dasham

उत्तर दिशा : इस दिशा में घर के सबसे ज्यादा खिड़की और दरवाजे होना चाहिए। घर की बालकनी व वॉश बेसिन भी इसी दिशा में होना चाहिए। इस दिशा में यदि वास्तुदोष होने पर धन की हानि व करियर में बाधाएँ आती हैं। इस दिशा की भूमि का ऊँचा होना वास्तु में अच्छा माना जाता …

वास्तु दिशा – वास्तु और कक्ष दशा – vaastu disha – vastu aur kaksha dasham Read More »