vasudev ki visheshta

वास्तुदेव की विशेषताएँ – वैदिक वास्तु शास्त्र – vasudev ki visheshta – vedic vastu shastra

वास्तुदेव की तीन विशेषताएं होती हैं : – चर वास्तु : इसमें वास्तु पुरुष की नजर या रुख भाद्रपद ( अगस्त, सितम्बर ), आश्विन तथा कार्तिक ( अक्टूबर , नवम्बर ) महीनों के अवधि में दक्षिण की ओर होता है | तथा मार्गशीर्ष (नवम्बर-दिसंबर ), पौष ( दिसंबर – जनवरी ), और माघ (जनवरी-फरवरी ) …

वास्तुदेव की विशेषताएँ – वैदिक वास्तु शास्त्र – vasudev ki visheshta – vedic vastu shastra Read More »