virus kalsarp yoga

विषाक्‍त कालसर्प योग – कालसर्प दोष | Virus Kalsarp Yoga – kaal sarp dosh

  विषाक्‍त कालसर्प योग ● योग: यदि व्‍यक्ति की कुंडली के ग्‍यारहवें भाव में राहु और पांचवें भाव में केतु सभी ग्रहों को समेटे हुए हो विषाक्‍त काल सर्प योग होता है. ● प्रभाव: ऐसे लोग अच्‍छी विद्या हासिल करते हैं. इन्‍हें पुत्र की प्राप्ति होती है. ये उदारवादी होते हैं, लेकिन कभी-कभी पारिवारिक कलह …

विषाक्‍त कालसर्प योग – कालसर्प दोष | Virus Kalsarp Yoga – kaal sarp dosh Read More »