kamaro ka nirman kaise ho?

कमरो का निर्माण कैसा हो? – वास्तु और कक्ष दशा – kamaro ka nirman kaise ho? – vastu aur kaksha dasham

कमरों का निर्माण में नाप महत्वपूर्ण होते हैं। उनमें आमने-सामने की दिवारें बिल्कुल एक नाप की हो, उनमें विषमता न हो।

कमरों का निर्माण भी सम ही करें। 20-10, 16-10, 10-10, 20-16 आदि विषमता में ना करें जैसे 19-16, 18-11 आदि।

बेडरूम में शयन की क्या स्थिति।

बेडरूम में सोने की व्यवस्था कुछ इस तरह हो कि सिर दक्षिण मे एवं पांव उत्तर में हो।
यदि यह संभव न हो सिराहना पश्चिम में और पैर पूर्व दिशा में हो तो बेहतर होता है।

रोशनी व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि आंखों पर जोर न पड़े। बेड रूम के दरवाजे के पास पलंग स्थापित न करें। इससे कार्य में विफलता पैदा होती है। कम-कम से समान बेड रूम के भीतर रखे।

कमरो का निर्माण कैसा हो? – kamaro ka nirman kaise ho? – वास्तु और कक्ष दशा – vastu aur kaksha dasham

 

Tags: , , , , , , , ,

Leave a Comment