;
चरित्रहीन स्त्री की पहचान

चरित्रहीन महिला के इन अंगों से पहचान? छल-कपट वाली स्त्री को क्या कहते है?

अगर आप छल-कपट वाली स्त्री को क्या कहते है? चरित्रहीन महिला के इन अंगों से पहचान? इसे अनेक प्रश्न ढूंढ रहे है तो आप सही जगह आए है।

हिंदू धर्म में महिलाओं को देवी का दर्जा दिया जाता है। ईश्वर ने नारी की रचना बहुत सुन्दर की है। लेकिन एक कहावत है कि हाथ की पांचों उंगलियां बराबर नहीं होती, उसी तरह सभी महिलाओं का व्यवहार या आदत एक जैसा नहीं हो सकता।

आज हम आपको कुछ ऐसी बात बताने जा रहे हैं, जिससे आप महिलाओं के चरित्र को अच्छे से पहचान सकते हैं।

कैसे पहचाने चरित्रहीन स्त्री को?

चरित्रहीन महिला के अंगों की कुछ पहचान हमने नीचे दी है।

  • यदि स्त्री के पैर का पिछला भाग निकला हुआ और चौड़ा हो। तो ऐसी स्त्री चरित्रहीन मानी जाती है।
  • वह स्त्री जिसके दाँत अन्य स्त्रियों की अपेक्षा बड़े और पीले हों। जिसे देखकर कोई भी डर जाए। तो ऐसी स्त्री चरित्रहीन मानी जाती है।
  • वह स्त्री जिसके बछड़े मोटे और चौड़े हों। ऐसी स्त्री चरित्रहीन मानी जाती है।
  • वह स्त्री जिसका पेट पतला हो। ऐसी स्त्री अपने पति के लिए अशुभ मानी जाती है। ये अपने पति को कभी भी धोखा दे सकती हैं।
  • वह स्त्री जिसका माथा चौड़ा हो। ऐसी स्त्री अपने देवर और परिवार के लिए अशुभ मानी जाती है।
  • वह स्त्री जिसकी गांड बड़ी हो। ऐसी स्त्री चरित्रहीन मानी जाती है।
  • अगर महिला के पैर का सबसे छोटा अंगूठा और उसके बगल वाली उंगली जमीन को नहीं छूती है। तो समझ लो कि वह स्त्री चरित्रहीन है।
  • जिस स्त्री के पैर के अंगूठे के पास वाली उंगली अंगूठे से बड़ी हो। वह स्त्री अपने पति की बात नहीं सुनती। और ऐसी स्त्री चरित्रहीन मानी जाती है।
  • जो महिलाएं गुस्सैल स्वभाव की होती हैं। ऐसी स्त्री चरित्रहीन मानी जाती है।
  • वह स्त्री जिसके कान के ऊपर बाल निकल आए हों। ऐसी स्त्री घर में कलह उत्पन्न करने वाली होती है और किसी की नहीं सुनती है। इसके अलावा ऐसी महिलाओं को भी चरित्रहीन माना जाता है।
  • जिस महिला की आंखें पीली और डरावनी दिखती हैं। ऐसी स्त्री चरित्रहीन मानी जाती है।
  • वह स्त्री जिसकी गर्दन लंबी हो। वह स्त्री कुल का नाश करने वाली और चरित्रहीन मानी जाती है।

छल-कपट वाली स्त्री को क्या कहते है?

छल-कपट वाली स्त्री को बहोत सारे नाम दिए गए है, अब ये एसपर आधारित है वो किस प्रकार का छल-कपट कर रही है।

हमने कुछ आगे सूची दी है उसमे आपको पता चलेगा।

Kundli dosh nivaran in hindi

चरित्रहीन महिला

चरित्रहीन महिलाएं दिल और जीभ का तालमेल बिठाने में असमर्थ होती हैं। उनके दिमाग में कुछ और चल रहा होता है और जुबां पर कुछ और। चरित्रहीन महिलाओं को एक से अधिक पुरुषों से संबंध बनाने में शर्म नहीं आती। ऐसी महिलाओं के कई पुरुष मित्र होते हैं। और वह चतुराई से सबको अपने प्रेम जाल में फंसा कर रखती है।

इन महिलाओं के दिल में कोई और है और ये किसी और मर्द से संबंध बना रही हैं। ऐसी महिलाएं किसी और से प्यार का इजहार करती हैं और किसी दूसरे पुरुष के प्यार में पड़ जाती हैं। ऐसी महिलाओं को अक्सर लोगों को रिझाते हुए देखा जा सकता है। ऐसी महिलाएं लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने की पूरी कोशिश करती हैं। इसके लिए वह किसी भी हद तक जा सकती हैं। चरित्रहीन स्त्रियां किसी एक पुरुष की नहीं होतीं। उसका प्रेमी, उसका साथी उसकी जरूरत के हिसाब से बदलता रहता है।

कुसंस्कारी महिला

हमरे हिन्दू धर्म के अनुसार जो स्त्री संस्कारी न हो उसे भी हम एक अच्छी स्त्री नहीं मानते उससे हमेशा दूरी बनानी चाहिए। शरीर की सुंदरता कुछ समय के लिए होती है, लेकिन मन की सुंदरता जीवन भर बनी रहती है। अत: यदि कोई स्त्री शरीर से सुंदर न होकर सुसंस्कृत और सुसंस्कृत हो तो ऐसी स्त्री से संबंध रखने से व्यक्ति अपने जीवन में हमेशा सम्मान प्राप्त करता है, लेकिन किसी भी प्रकार से बुरे आचरण वाली स्त्री से संबंध रखने से व्यक्ति अपने जीवन में सम्मान पाता है। वैसे तो बदनामी का सामना करना पड़ता है।

बुरी आदतों वाली महिला

बुरी आदतों वाली महिला का चरित्र निश्चित रूप से उत्तम नहीं होता है। जो स्त्री नशे की आदी होती है और संबंधों से अधिक महत्व नशे को देती है, वह स्त्री संबंध बनाने में समर्थ नहीं होती। ऐसी महिला से दोस्ती करना आपको नुकसान पहुंचा सकता है और समाज में आपकी छवि खराब कर सकता है। आपको भविष्य में इसकी लत लगने का भी खतरा है, जो आपकी शारीरिक समस्याओं का कारण बन सकता है। इसलिए बुरी आदतों वाली स्त्री से दूर ही रहना चाहिए।

महिला का धार्मिक ना होना

यदि कोई महिला धार्मिक प्रथाओं की पूजा नहीं करती है और उनका पालन करने से इनकार करती है और धार्मिक कार्यों में अपनी उपस्थिति नहीं देती है, तो उस महिला के चरित्र पर कभी भरोसा नहीं करना चाहिए। ऐसी महिलाएं आपको कभी भी धोखा दे सकती हैं और नुकसान पहुंचा सकती हैं। जो महिला धार्मिक होती है उसके व्यवहार में विनम्रता होती है और उसका चरित्र भी अच्छा होता है। धर्म का पालन करना अच्छी आदत है, इसे सभी को अपनाना चाहिए।

पुरुषो को नीचा दिखाने वाली स्त्री

एक महिला जो पुरुषों का सम्मान नहीं करती है और हर समय उन्हें अपमानित करने की कोशिश करती है, वह किसी भी तरह के रिश्ते के लिए बिल्कुल भी सक्षम नहीं होती है। ऐसी महिलाएं पुरुषों को अपमानित करने की चाह में किसी भी हद तक चली जाती हैं और अपने पति के सम्मान को बनाए रखने में विफल रहती हैं। कई महिलाएं पुरुषों के साथ तुलना करने और खुद को नीचा दिखाने की इतनी कोशिश करती हैं कि वे अपने रिश्ते खत्म कर लेती हैं।

पैसों के लिए कुछ भी करने वाली

कुछ महिलाएं पैसे और गहनों को ज्यादा महत्व देती हैं और पैसे के लालच में ऐसे कामों में लिप्त हो जाती हैं जो उन्हें शोभा नहीं देता। ऐसी स्त्री को चरित्रहीन कहा जाता है और धन की लोभी स्त्री को कभी महत्व नहीं देना चाहिए।

ये भी पढ़े : डालते ही गिर जाता है? अगर आपका भी शीघ्रपतन की समस्या है?

विधवा महिला को कहते है चरित्रहीन?

नहीं, एक विधवा महिला को अपने जीवन में काफी संघर्ष का सामना करना पड़ता है। अपने पति की मृत्यु के बाद, कुछ विधवा महिलाएँ पुनर्विवाह करके अपने जीवन को बेहतर बनाने का प्रयास करती हैं। कुछ विधवा महिलाओं को पुनर्विवाह न करके अपने जीवन में संघर्ष का सामना करना पड़ता है। और वह खुद अपने जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश करती है।

अगर किसी विधवा महिला के बच्चे भी हैं। इसलिए वह अपना पूरा जीवन उनके भविष्य के बारे में सोचते हुए बिताती है।
कुछ महिलाएं अपने पति की मृत्यु के बाद भी स्वतंत्र हो जाती हैं। क्योंकि उन्हें कुछ कहने वाला कोई नहीं है। जिससे वह अपनी इच्छा के अनुसार अपना जीवन व्यतीत कर सके।

https://www.facebook.com/lalkitabhindi/
Like and share on Facebook
संपूर्ण चाणक्य निति
संपूर्ण चाणक्य निति
Tags: , , , , , , , , , , ,