jyeshtha nakshatr mein janme vyakti ka bhavishyaphal

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति का भविष्यफल – ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति का भविष्यफल – Jyeshtha born constellation person Forecast – jyeshtha nakshatr mein janme vyakti ka bhavishyaphal

ज्येष्ठा नक्षत्र का स्वामी ग्रह बुध है और इस नक्षत्र के सभी 4 चरण वृश्चिक राशि में स्थित होते हैं जिसके कारण इस नक्षत्र पर बुध ग्रह सहित वृश्चिक राशि और इस राशि के स्वामी ग्रह मंगल का भी प्रभाव पड़ता है। ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्म होने पर जातक की जन्म राशि वृश्चिक तथा राशि स्वामी मंगल, वर्ण ब्राह्मण, वश्य कीट, योनि मृग, महावैर योनि श्वास, गण देव तथा नाड़ी आदि हैं।

* प्रतीक : ताबीज, कान की बाली या छाता
* वृक्ष : चीड़ का पेड़
* रंग : क्रीम
* अक्षर : न और य
* देवता : इंद्र
* नक्षत्र स्वामी : बुध
* राशि स्वामी : मंगल
* शारीरिक गठन : शक्तिशाली शरीर
* भौतिक सुख : वाहन और भूमि का सुख

jyeshtha nakshatr mein janme vyakti ka bhavishyaphal – ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति का भविष्यफल – ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति का भविष्यफल – Jyeshtha born constellation person Forecast

 

संपूर्ण चाणक्य निति
संपूर्ण चाणक्य निति
Tags: , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Comment