मूल नक्षत्र मंत्र

meen lagna moola nakshatra

मीन लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Pisces ascendant original Star – meen lagna moola nakshatra

मीन लग्न में केतु लग्न दशम नवम में शुभ रहेगा वहीं गुरु लग्न नवम पंचम द्वितीय में शुभफलदायी रहेगी। केतु गुरु के साथ उत्तम मंगल के साथ हो तो जातक को वह जिद्दी स्वभाव वाला उग्र भी बना देता है। अशुभ फलदायी हो या नीच का मिथुन में हो तो ऐसे जातक को केसर का […]

मीन लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Pisces ascendant original Star – meen lagna moola nakshatra Read More »

makar lagna moola nakshatra

मकर लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Capricorn ascendant original Star – makar lagna moola nakshatra

मकर लग्न में केतु एकादश चतुर्थ तृतीय भाव में ठीक रहेगा वहीं गुरु तृतीय एकादश चतुर्थ सप्तम में शुभफलदायी होते हैं। makar lagna moola nakshatra – मकर लग्न मूल नक्षत्र – मकर लग्न मूल नक्षत्र – Capricorn ascendant original Star  

मकर लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Capricorn ascendant original Star – makar lagna moola nakshatra Read More »

kumbha lagna mool nakshatra

कुंभ लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Aquarius ascendant original Star – kumbha lagna mool nakshatra

कुंभ लग्न kumbha lagna mool nakshatra – कुंभ लग्न मूल नक्षत्र – कुंभ लग्न मूल नक्षत्र – Aquarius ascendant original Star ? में केतु लग्न द्वितीय एकादश दशम में शुभ फलदायी रहेगा वहीं गुरु द्वितीय एकादश दशम में शुभ फलदायी रहेगा। Powered by: CSS Style Kit

कुंभ लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Aquarius ascendant original Star – kumbha lagna mool nakshatra Read More »

mool nakshatr parichay

मूल नक्षत्र परिचय – मूल नक्षत्र – Original constellation introduction – mool nakshatr parichay

मूल नक्षत्र के चारों चरण धनु राशि में आते हैं। यह ये ये भा भी के नाम से जाना जाता है। नक्षत्र का स्वामी केतु है। वहीं राशि स्वामी गुरु है। केतु गुरु धनु राशि में उच्च का होता है व इसकी दशा 7 वर्ष की होती है। इस के बाद सर्वाधिक 20 वर्ष की

मूल नक्षत्र परिचय – मूल नक्षत्र – Original constellation introduction – mool nakshatr parichay Read More »

vrishabh lagna mool nakshatra

वृषभ लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Taurus constellation child marriage – vrishabh lagna mool nakshatra

वृषभ लग्न में केतु एकादश, चतुर्थ, पंचम, दशम नवम भाव में ठीक रहेगा वहीं गुरु की स्थिति तृतीय, एकादश, पंचम, सप्तम में शुभफलदायी होगी। vrishabh lagna mool nakshatra – वृषभ लग्न मूल नक्षत्र – वृषभ लग्न मूल नक्षत्र – Taurus constellation child marriage  

वृषभ लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Taurus constellation child marriage – vrishabh lagna mool nakshatra Read More »

singh lagna mool nakshatra

सिंह लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Leo ascendant original Star – singh lagna mool nakshatra

सिंह लग्न में केतु पंचम, नवम, लग्न, चतुर्थ में व राशि स्वामी गुरु नवम, पंचम, लग्न, चतुर्थ द्वादश में हो तो उत्तम परिणाम मिलते हैं। ऐसा जातक माता, भूमि, भवन, भाग्यवान, प्रभावी, प्रशासनिक सेवाओं में सफल होता है। singh lagna mool nakshatra – सिंह लग्न मूल नक्षत्र – सिंह लग्न मूल नक्षत्र – Leo ascendant

सिंह लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Leo ascendant original Star – singh lagna mool nakshatra Read More »

kanya lagna moola nakshatra

कन्या लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Married the daughter of the original Star – kanya lagna moola nakshatra

कन्या लग्न में केतु चतुर्थ, सप्तम, दशम में हो व गुरु चतुर्थ सप्तम एकादश द्वादश तृतीय लग्न में क्रमशः फल में वृद्धिदायक होता है। ऐसे जातक धनी, पत्नी से लाभ पाने वाले, भूमि भवन से लाभ, पराक्रम, बाहर से लाभ पाने वाले होते हैं। kanya lagna moola nakshatra – कन्या लग्न मूल नक्षत्र – कन्या

कन्या लग्न मूल नक्षत्र – मूल नक्षत्र – Married the daughter of the original Star – kanya lagna moola nakshatra Read More »

durbhaagyashaalee nahin hote mool nakshatr ke jaatak

दुर्भाग्यशाली नहीं होते मूल नक्षत्र के जातक – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Unlucky not contain the original constellation of native – durbhaagyashaalee nahin hote mool nakshatr ke jaatak

मूल नक्षत्र गण्डमूल नक्षत्र के अन्तर्गत आता है। यह नक्षत्र बहुत ही अशुभ माना जाता है। इस नक्षत्र का स्वामी केतु होता है। इस नक्षत्र के चारों चरण धनु राशि में होते हैं। इस नक्षत्र के विषय में यह धारणा है कि जो व्यक्ति इस नक्षत्र में जन्म लेते हैं उनके परिवार के सदस्यों को

दुर्भाग्यशाली नहीं होते मूल नक्षत्र के जातक – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Unlucky not contain the original constellation of native – durbhaagyashaalee nahin hote mool nakshatr ke jaatak Read More »

mool nakshatra

मूल नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Original Star – mool nakshatra

मूल नक्षत्र के देवता केतु को माना जाता है,जबकि वैज्ञानिक ष्टिकोण से साल के पेड़ को मूल नक्षत्र का प्रतीक माना जाता है और मूल नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग साल वृक्ष की पूजा करते है। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग अपने घर के खाली हिस्से में साल के पेड को लगाते

मूल नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Original Star – mool nakshatra Read More »

mool nakshatr abhukt mool vichaar

अभुक्त मूल विचार – मूल नक्षत्र और उनके प्रभाव – Unpaid basic idea – mool nakshatr abhukt mool vichaar

ज्येष्ठा नक्षत्र की अन्त की दो घडी तथा मूल नक्षत्र की आदि की दो घडी अभुक्त मूल कहलाती है,लेकिन यह बातें तब मानी जाती थीं,जब जातक के माता पिता पहले से ही धर्म कार्यों के अन्दर खुद को लगा कर रखते थे,मगर आज के जमाने में सभी भौतिक कारणों से और सब कुछ पोंगा पंडित

अभुक्त मूल विचार – मूल नक्षत्र और उनके प्रभाव – Unpaid basic idea – mool nakshatr abhukt mool vichaar Read More »

Scroll to Top