रोहिणी नक्षत्र मराठी माहिती

bhaavuk aur sanvadenasheel hote hain rohinee nakshatr ke jaatak

भावुक और संवदेनशील होते हैं रोहिणी नक्षत्र के जातक – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Passionate and sensitive to Rohini constellation of native – bhaavuk aur sanvadenasheel hote hain rohinee nakshatr ke jaatak

हर इंसान के व्यक्तित्व पर नक्षत्रों का प्रभाव” इस कड़ी में हम रोहिणी नक्षत्र पर चर्चा करेंगे। ज्योतिष सिद्धांत के अनुसार रोहिणी चारों चरणों में वृषभ राशि में होता है। जो व्यक्ति इस नक्षत्र में जन्म लेते हैं उनका व्यक्तित्व कैसा होता है चलिए देखते हैं। चन्द्रमा को रोहिणी नक्षत्र का स्वामी कहा जाता है। …

भावुक और संवदेनशील होते हैं रोहिणी नक्षत्र के जातक – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Passionate and sensitive to Rohini constellation of native – bhaavuk aur sanvadenasheel hote hain rohinee nakshatr ke jaatak Read More »

rohinee nakshatr samsya

रोहिणी नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Rohini constellation – rohinee nakshatr samsya

रोहिणी नक्षत्र के देवता चंद्र को माना जाता है,जबकि वैज्ञानिक ष्टिकोण से जामुन के पेड को रोहिणी नक्षत्र का प्रतीक माना जाता है और रोहिणी नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग जामुन के पेड की पूजा करते है। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग अपने घर के खाली हिस्से में जामुन के पेड को …

रोहिणी नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Rohini constellation – rohinee nakshatr samsya Read More »

Rohini Nakshatra

रोहिणी चंद्रमा की सुंदर पत्नी – गृह नक्षत्र का प्रभाव – Rohini beautiful wife of the Moon – Rohini Nakshatra

रोहिणी नक्षत्र को वृष राशि का मस्तक कहा गया है। इस नक्षत्र में तारों की संख्या पाँच है। भूसे वाली गाड़ी जैसी आकृति का यह नक्षत्र फरवरी के मध्य भाग में मध्याकाश में पश्चिम दिशा की तरफ रात को 6 से 9 बजे के बीच दिखाई देता है। यह कृत्तिका नक्षत्र के पूर्व में दक्षिण …

रोहिणी चंद्रमा की सुंदर पत्नी – गृह नक्षत्र का प्रभाव – Rohini beautiful wife of the Moon – Rohini Nakshatra Read More »