शैव धर्म और वैष्णव धर्म

vaishnav dharm ka swaroop

वैष्णव धर्म का स्वरूप – जादू टोन का इतिहास – vaishnav dharm ka swaroop – jaadu tone ka itihaas

स्पष्ट से तो नहीं कहा जा सकता है कि हड़प्पावासी वैष्णव धर्म को मानते थे क्योंकि विष्णु या उनके अवतारों की मूर्तियां यहां नहीं मिली हैं। पर वहाँ से प्राप्त कुछ मुहरों पर बनी स्वस्तिक की आकृति तथा सूर्य का चिन्ह इस बात का द्योतक है कि पीछे वैष्णव सम्प्रदाय के विकास के साथ जुड़ने …

वैष्णव धर्म का स्वरूप – जादू टोन का इतिहास – vaishnav dharm ka swaroop – jaadu tone ka itihaas Read More »

shaiv dharm ke svaroop

शैव धर्म के स्वरूप – जादू टोन का इतिहास – shaiv dharm ke svaroop – jaadu tone ka itihaas

(i) पशुपति मूर्ति :- यहाँ एक मुहर मिली है। इस पर एक तिपाई पर एक व्यक्ति विराजमान है। इसका एक पैर मुड़ा है और एक नीचे की ओर लटका है। इसके तीन सिर हैं तथा सिर पर तिन सींग हैं। इसके हाथ दोनों घुटनो पर हैं तथा इसकी आकृति ध्यानावस्थित है। इसके दोनों ओर पशु …

शैव धर्म के स्वरूप – जादू टोन का इतिहास – shaiv dharm ke svaroop – jaadu tone ka itihaas Read More »