renunciation ceremony

संन्यास संस्कार – ब्रह्मचर्य विज्ञान | Renunciation ceremony – brahmacharya vigyan

  संन्यास = सं + न्यास। अर्थात् अब तक लगाव का बोझ जो उसके कन्धों पर है, उसे उठाकर अलग धर देना। मोहादि आवरण पक्षपात छोड़ के विरक्त होकर सब पृथ्वी में परोपकारार्थ विचरना।संन्यास ग्रहण के प्रथम प्रकार को क्रम संन्यास कहते हैं। जिसमें क्रमश: ब्रह्मचर्य, गृहस्थ, वानप्रस्थ होके संन्यास लिया जाता है। द्वितीय प्रकार …

संन्यास संस्कार – ब्रह्मचर्य विज्ञान | Renunciation ceremony – brahmacharya vigyan Read More »