magha nakshatra in hindi

naam akshar athva janm nakshatr

नामाक्षर अथवा जन्म नक्षत्र – चौदहवां दिन – Day 14 – 21 Din me kundli padhna sikhe – naam akshar athva janm nakshatr – Chaudahavaan Din

जन्म के समय चन्द्रमा जिस नक्षत्र में स्थित है उसके आधार पर कुंडली मिलान किया जाता है। जिसे आम भाषा में गुण मिलान भी कहा जाता है। इस विधि में वर एवं कन्या के नामाक्षर अथवा जन्म नक्षत्र की एक सारणी से मिलान करके परिणाम निकाला जाता है। इस गुण मिलान में त्रुटी हो जाए …

नामाक्षर अथवा जन्म नक्षत्र – चौदहवां दिन – Day 14 – 21 Din me kundli padhna sikhe – naam akshar athva janm nakshatr – Chaudahavaan Din Read More »

makar lagn poorvaashaadha nakshatr

मकर लग्न पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – Capricorn ascendant purva ashadha Star – makar lagn poorvaashaadha nakshatr

मकर लग्न में शुक्र दशम, पंचम, लग्न में शुभ रहेगा, वहीं गुरु सप्तम, एकादश, तृतीय में शुभ परिणाम देगा। makar lagn poorvaashaadha nakshatr – मकर लग्न पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – मकर लग्न पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – Capricorn ascendant purva ashadha Star  

kumbh lagn poorvaashaadha nakshatr

कुंभ लग्न पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – Aquarius ascendant purva ashadha Star – kumbh lagn poorvaashaadha nakshatr

कुंभ लग्न में शुक्र नवम, चतुर्थ लग्न, द्वितीय भाव में उतम फलदायी रहेगा, वहीं गुरु दशम, द्वितीय, एकादश, तृतीय में अनुकूल रहेगा। kumbh lagn poorvaashaadha nakshatr – कुंभ लग्न पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – कुंभ लग्न पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र – Aquarius ascendant purva ashadha Star  

dhanishta nakshatra parichay

धनिष्ठा नक्षत्र परिचय – धनिष्ठा नक्षत्र – Dhanishta constellation introduction – dhanishta nakshatra parichay

धनिष्ठा नक्षत्र के अंतिम दो चरणों में जन्मा जातक गू, गे नाम से जाना जा सकता है। मंगल इस नक्षत्र का स्वामी है, वहीं राशि स्वामी शनि है। मंगल का नक्षत्र होने से ऐसे जातक ऊर्जावान, तेजस्वी, पराक्रमी, परिश्रम के द्वारा सफलता पाने वाला होता है। कुंम राशि में जन्मा होने से ऐसे जातक स्थिर …

धनिष्ठा नक्षत्र परिचय – धनिष्ठा नक्षत्र – Dhanishta constellation introduction – dhanishta nakshatra parichay Read More »

singh lagna dhanishta nakshatra

सिंह लग्न धनिष्ठा नक्षत्र – धनिष्ठा नक्षत्र – Leo ascendant dhanishta Star – singh lagna dhanishta nakshatra

नक्षत्र स्वामी मंगल भाग्य नवम भाव में हो तो ऐसा जातक भाग्यशाली होता है, वहीं चतुर्थ भाव में हो तो ऐसे जातक को भूमि-भवन, माता एवं जनता से संबंधित कार्यों में लाभ मिलता है। लग्न में हो तो प्रभावशाली होकर भाग्य निरंतर साथ देता है। पंचम में हो तो संतान उत्तम होती है। singh lagna …

सिंह लग्न धनिष्ठा नक्षत्र – धनिष्ठा नक्षत्र – Leo ascendant dhanishta Star – singh lagna dhanishta nakshatra Read More »

poorva phalguni nakshatra ke jatak

पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र के जातक – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Purwafalguni constellation of native – poorva phalguni nakshatra ke jatak

जो व्यक्ति पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में जन्म लेते हैं वे संगीत एवं कला के दूसरे क्षेत्र व साहित्य के अच्छे जानकार होते हैं क्योंकि इनमें इन विषयों के प्रति बचपन से ही लगाव रहता है। ये ईमानदार होते हैं व नैतिकता एवं सच्चाई के रास्ते पर चलकर जीवन का सफर तय करते हैं। इनके जीवन में …

पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र के जातक – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Purwafalguni constellation of native – poorva phalguni nakshatra ke jatak Read More »

poorvaabhaadrapad nakshatr ke jaatakon ka vyaktitv

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र के जातकों का व्यक्तित्व – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Pūrva bhādrapadā Star natives of personality – poorvaabhaadrapad nakshatr ke jaatakon ka vyaktitv

नक्षत्रों की दुनियां में पूर्वाभाद्रपद का स्थान २५वां हैं। इस नक्षत्र के स्वामी बृहस्पति यानी गुरू होते हैं। इस नक्षत्र का एक चरण मीन में होता है और तीन चरण कुम्भ में रहता है। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले व्यक्ति का स्वभाव व्यक्तित्व एवं उनकी जीवनशैली कैसी होती है आइये इस पर विचार करें।ज्योतिषशास्त्र …

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र के जातकों का व्यक्तित्व – जन्म नक्षत्र का व्यक्तित्व पर प्रभाव – Pūrva bhādrapadā Star natives of personality – poorvaabhaadrapad nakshatr ke jaatakon ka vyaktitv Read More »

uttaraaphaalgunee nakshatr samsya

उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Uttrafalguni Star – uttaraaphaalgunee nakshatr samsya

उत्तराफल्गुनी नक्षत्र के देवता रवि को माना जाता है,जबकि वैज्ञानिक ष्टिकोण से रुद्राक्ष के पेड को उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र का प्रतीक माना जाता है और उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग रुद्राक्ष वृक्ष की पूजा करते है। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग अपने घर के खाली हिस्से में रुद्राक्ष के पेड को लगाते …

उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Uttrafalguni Star – uttaraaphaalgunee nakshatr samsya Read More »

pushp nakshatr samsya

पूष्य नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Pushy Star – pushp nakshatr samsya

पुष्य नक्षत्र के देवता शनि को माना जाता है,जबकि वैज्ञानिक ष्टिकोण से पीपल के पेड को पूष्य नक्षत्र का प्रतीक माना जाता है और पुष्य नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग पीपल वृक्ष की पूजा करते है। इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले लोग अपने घर के खाली हिस्से में पीपल वृक्ष के पेड को …

पूष्य नक्षत्र – नक्षत्र के वृक्ष द्वारा अपनी समस्याओं को दूर करें – Pushy Star – pushp nakshatr samsya Read More »

Pushya Nakshatra

शुभ फलदायी होता है पुष्य नक्षत्र. – गृह नक्षत्र का प्रभाव – The good fruitful flower constellation. – Pushya Nakshatra

कार्तिक अमावस्या के पूर्व आने वाले पुष्य नक्षत्र को शुभतम माना गया है। जब यह नक्षत्र सोमवार, गुरुवार या रविवार को आता है, तो एक विशेष वार नक्षत्र योग निर्मित होता है जिसका संधिकाल में सभी प्रकार का शुभ फल सुनिश्चित हो जाता है। गुरुवार को इस नक्षत्र के पड़ने से गुरु-पुष्य नामक योग का …

शुभ फलदायी होता है पुष्य नक्षत्र. – गृह नक्षत्र का प्रभाव – The good fruitful flower constellation. – Pushya Nakshatra Read More »