;

vaastu meaning

vaastu guru dvaara vaastu sambandhee shankaon ka samaadhaan

वास्तु गुरु द्वारा वास्तु सम्बन्धी शंकाओं का समाधान – सम्पूर्ण वास्तु दोष – vaastu guru dvaara vaastu sambandhee shankaon ka samaadhaan – sampurna vastu dosh nivaran

यदि बड़े मकान के छोटे से भाग में वास्तुदोष होने से पूरा मकान ही वास्तुदोष युक्त हो जाता है, तो क्या ऐसे में दोषपूर्ण भाग की परिवार के ही किसी दूसरे सदस्य के नाम से रजिस्ट्री करने से क्या वह दोष समाप्त हो सकता है?उत्तर : कई मकानों के थोड़े से भाग में वास्तुदोष इस …

वास्तु गुरु द्वारा वास्तु सम्बन्धी शंकाओं का समाधान – सम्पूर्ण वास्तु दोष – vaastu guru dvaara vaastu sambandhee shankaon ka samaadhaan – sampurna vastu dosh nivaran Read More »

vaastu guru dwara vaastu sambandhi shankaon ka samadhan 1

वास्तु गुरु द्वारा वास्तु सम्बन्धी शंकाओं का समाधान 1 – सम्पूर्ण वास्तु दोष – vaastu guru dwara vaastu sambandhi shankaon ka samadhan 1 – sampurna vastu dosh nivaran

क्या वास्तुदोष निवारण यंत्र लगाने से कुछ लाभ होता है?उत्तर : बिल्कुल नहीं! वास्तुशास्त्र के प्रथम ग्रन्थ से लेकर, 1995 से पूर्व छपे किसी भी वास्तुशास्त्र के ग्रन्थ में इस प्रकार के किसी भी यंत्र का वर्णन नहीं है। यह वास्तुदोष निवारण यंत्र केवल तथाकथित लालची वास्तुशास्त्रियों द्वारा भोली-भाली जनता को लूटने के लिए बनाया …

वास्तु गुरु द्वारा वास्तु सम्बन्धी शंकाओं का समाधान 1 – सम्पूर्ण वास्तु दोष – vaastu guru dwara vaastu sambandhi shankaon ka samadhan 1 – sampurna vastu dosh nivaran Read More »

vastu aur vigyan

वास्तु और विज्ञान – वास्तुशास्त्र – vastu aur vigyan – vastu shastra

सूर्य की ऊर्जा को अधिक समय तक भवन में प्रभाव बनाए रखने के लिए ही दक्षिण और पश्चिम भाग की अपेक्षा पूर्व एवं उत्तर के भवन निर्माण तथा उसकी सतह को नीचा रखे जाने का प्रयास किया जाता है। प्रात:कालीन सूर्य रशिमयों में अल्ट्रा वॉयलेट रशिमयों से ज्यादा विटामिन ”डी” तथा विटामिन ”एफ” रहता है। …

वास्तु और विज्ञान – वास्तुशास्त्र – vastu aur vigyan – vastu shastra Read More »

vaastu

वास्तु – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – vaastu – vastu shastra ke anusar ghar

वास्तु शास्त्र के अनुसार हर मनोकामना पूर्ति के लिए भवन के अलग-अलग स्थान उत्तरदायी होते हैं।अगर आप भी अपनी मनोकामनाएं पूरी करना चाहते हैं तो इन वास्तु नियमों का पालन अवश्य करें-1- वास्तु शास्त्र के अनुसार वायव्य कोण वायुदेवता का स्थान है। अत: विवाह योग्य कन्या को वायव्य कोण( उत्तर-पश्चिम) में स्थित कमरा देना चाहिए। …

वास्तु – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – vaastu – vastu shastra ke anusar ghar Read More »

vaastu shaastr ka arth

वास्तु शास्त्र का अर्थ – घर का वास्तु – vaastu shaastr ka arth – ghar ka vastu

वास्तु शास्त्र का अर्थ वास्तुशास्त्र एक ऐसा विज्ञान है जो हमारे घर और कार्यस्थल पर समृद्धि, मानसिक शांति, खुशी और सामंजस्य दिलाने में मदद करता है. किसी जगह का वास्तु उस जगह के चारों ओर उपस्थित विभिन्न ऊर्जा को इस तरीके से कवच के रूप में पिरोता है कि व्यक्ति को मानसिक शांति और सद्भाव …

वास्तु शास्त्र का अर्थ – घर का वास्तु – vaastu shaastr ka arth – ghar ka vastu Read More »