shaakt sampradaay ka svaroop

शाक्त सम्प्रदाय का स्वरूप – जादू टोन का इतिहास – shaakt sampradaay ka svaroop – jaadu tone ka itihaas

शक्ति पूजा प्राची विश्व की प्रायः सभी सभ्यताओं में होती रही है तभी शक्ति को आदिशक्ति माना जाता है। सिंधुघाटी से भी देवी की उपासना के चिन्ह प्राप्त होते हैं। सिन्धु सभ्यता में एक मुहर पर अंकित एक स्त्री की नाभि से निकला हुआ कमलनाल दिखाया गया है। यह उत्पादन एवं उर्वरता का बोधक होता …

शाक्त सम्प्रदाय का स्वरूप – जादू टोन का इतिहास – shaakt sampradaay ka svaroop – jaadu tone ka itihaas Read More »