vastu shastra in english

vaidik vastu shastra kee bhoomika

वैदिक वास्तु शास्त्र की भूमिका – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik vastu shastra kee bhoomika – vedic vastu shastra

वास्तु शास्त्र की भूमिका ओम प्रकाश दार्शनिक आज मानवीय सृष्टि में जो कुछ भी और जैसे भी हो रहा है, वह यदि अवांछित ढंग से न होकर विधि सापेक्ष रूप में हो तो निश्चित ही बहुत से अमंगल टल सकते हैं! वास्तुशास्त्र इस मांगल्य की स्थापना में हमारा सहायक अथवा मार्गदर्शक हो सकता है! भली-भांति …

वैदिक वास्तु शास्त्र की भूमिका – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik vastu shastra kee bhoomika – vedic vastu shastra Read More »

vastu aur vigyan

वास्तु और विज्ञान – वास्तुशास्त्र – vastu aur vigyan – vastu shastra

सूर्य की ऊर्जा को अधिक समय तक भवन में प्रभाव बनाए रखने के लिए ही दक्षिण और पश्चिम भाग की अपेक्षा पूर्व एवं उत्तर के भवन निर्माण तथा उसकी सतह को नीचा रखे जाने का प्रयास किया जाता है। प्रात:कालीन सूर्य रशिमयों में अल्ट्रा वॉयलेट रशिमयों से ज्यादा विटामिन ”डी” तथा विटामिन ”एफ” रहता है। …

वास्तु और विज्ञान – वास्तुशास्त्र – vastu aur vigyan – vastu shastra Read More »

vaastu

वास्तु – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – vaastu – vastu shastra ke anusar ghar

वास्तु शास्त्र के अनुसार हर मनोकामना पूर्ति के लिए भवन के अलग-अलग स्थान उत्तरदायी होते हैं।अगर आप भी अपनी मनोकामनाएं पूरी करना चाहते हैं तो इन वास्तु नियमों का पालन अवश्य करें-1- वास्तु शास्त्र के अनुसार वायव्य कोण वायुदेवता का स्थान है। अत: विवाह योग्य कन्या को वायव्य कोण( उत्तर-पश्चिम) में स्थित कमरा देना चाहिए। …

वास्तु – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – vaastu – vastu shastra ke anusar ghar Read More »

vaastu 1

वास्तु 1 – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – vaastu 1 – vastu shastra ke anusar ghar

आजकल अभिभावक बच्चों की पढ़ाई के लिए अत्यधिक चिंतित रहते हैं। अधिक अंक लाने के लिए बच्चों में शिक्षा के प्रति एकाग्रता का होना आवश्यक होता है। अगर आप भी चाहते हैं कि आपके बच्चे परीक्षा में अव्वल नंबरों से पास हों तो नीचे लिखे वास्तु टिप्स का उपयोग करें- 1- बच्चों का अध्ययन कक्ष …

वास्तु 1 – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर – vaastu 1 – vastu shastra ke anusar ghar Read More »

vaastu disha

वास्तु दिशा – वास्तु और कक्ष दशा – vaastu disha – vastu aur kaksha dasham

उत्तर दिशा : इस दिशा में घर के सबसे ज्यादा खिड़की और दरवाजे होना चाहिए। घर की बालकनी व वॉश बेसिन भी इसी दिशा में होना चाहिए। इस दिशा में यदि वास्तुदोष होने पर धन की हानि व करियर में बाधाएँ आती हैं। इस दिशा की भूमि का ऊँचा होना वास्तु में अच्छा माना जाता …

वास्तु दिशा – वास्तु और कक्ष दशा – vaastu disha – vastu aur kaksha dasham Read More »