til shubh ya ashubh!

तिल शुभ या अशुभ! – तिल शुभ या अशुभ! – til shubh ya ashubh! – til shubh ya ashubh

परिचय

आमतौर पर आपने महिलाओं के विभिन्‍न हिस्‍सों पर तिल देखा होगा। कोई तिल को खूबसूरती पर ग्रहण मानता है, तो कोई तिल को भाग्‍य से जोड़कर देखता है। ऐसा कहते हैं कि गोरे चेहरे पर काला तिल होने से किसी की नजर नहीं लगती।
हालांकि डॉक्‍टरी भाषा के अनुसार जब त्वचा की कोशिकाएं पूरी त्वचा में फैलने के बजाय एक जगह एकत्रित हो जाती हैं, तो कुछ समय बाद वे मोल (मस्सा) का रूप ले लेती हैं। ऐसी कोशिकाओं को मेलानोसाइट्स कहते हैं। इनका रंग कत्थई या काला होता है। कई बार मोल्स यानी तिल वंशानुगत भी होते है।
तिल से जुड़ी कई अनेक मान्यताएं हमारे समाज में प्रचलित हैं। समुद्र शास्त्र के अनुसार चेहरे या शरीर के विभिन्न अंगों पर तिल होने के अलग-अलग फल प्राप्त होते हैं। शरीर के तिल उस व्यक्ति के स्वभाव के बारे में भी काफी कुछ बता देते हैं। समुद्र शास्त्र के अनुसार जानिए शरीर के किस अंग पर तिल किस बात का संकेत करता है-

तिल शुभ या अशुभ! – til shubh ya ashubh! – तिल शुभ या अशुभ! – til shubh ya ashubh

संपूर्ण चाणक्य निति
संपूर्ण चाणक्य निति
Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Comment