bhindi se sugar ka ilaj in hindi

भिन्डी से शुगर का इलाज – शुगर कंट्रोल कैसे करे

भिन्डी से शुगर का इलाज : भिंडी को आप घर पर ही दवा के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। आप जानते हैं कि अगर आपका ब्लड शुगर लेवल अनियंत्रित है, तो आपको इंसुलिन के इंजेक्शन लेने पड़ सकते हैं। इसके साथ ही मधुमेह आपको मोटापे का कारण भी बना सकता है। ऐसे में आप भिंडी से खास रेसिपी बनाकर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं. भिंडी से मधुमेह को कैसे नियंत्रित किया जा सकता है ये या रक्त शर्करा के लिए भिंडी से विशेष नुस्खा कैसे बनाया जाता है, तो यहां हम भिंडी की विधि के बारे में बात कर रहे है।

भिन्डी से शुगर का इलाज - शुगर कंट्रोल कैसे करे

अगर आप भी भिंडी खाने के शौक़ीन हैं, तो समस्याओं से बचने के लिए पढ़ें।

ये भी पढ़े :   दही और नींबू का रस - घरेलू उपचार - dahi aur nimbu ka ras - gharelu upchar

कच्ची भिंडी खाना होगा फायदेमंद, पकी हुई नहीं 

अगर आप भिंडी पका कर सब्जी खाते हैं तो ऐसा न करें। खासकर मधुमेह के मरीजों को इसे कच्चा ही खाना चाहिए। इससे मधुमेह नियंत्रण में रहता है। भिंडी में मौजूद घुलनशील फाइबर मधुमेह रोगियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा और फायदेमंद माना जाता है। मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए ऐसे करें भिंडी का इस्तेमाल।

भिन्डी से शुगर का इलाज की रेसिपी

दोनों भिन्डी को अच्छे से धो लीजिये. अब इसके आगे और पीछे काट लें। इसमें से एक चिपचिपा सफेद तरल निकलेगा। आपको इसे धोना नहीं है। रात को इन कटी हुई भिंडी को एक गिलास पानी में डाल दें।

सुबह खाली पेट उठकर भिंडी का एक टुकड़ा पानी से निकाल कर पूरा पानी पी लें। अगर आप अपने ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखना चाहते हैं तो एक दिन ऐसा करने से काम नहीं चलेगा। यह प्रक्रिया आपको कम से कम दो-तीन महीने तक लगातार करनी है।

ये भी पढ़े :   फसलों में दवा - घरेलू उपचार - masale mein dava - gharelu upchar

और पढे : मधुमेह से बचाव कैसे करे?

Kundli dosh nivaran in hindi

टाइप २ मधुमेह में अद्भुत भिन्डी से शुगर का इलाज

अगर आप टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित हैं तो यह आपकी किडनी को भी प्रभावित कर सकता है। भिंडी खाने से किडनी की समस्या दूर हो सकती है। अगर आपको मधुमेह है, तो रोजाना अपने आहार में भिंडी को शामिल करना सुनिश्चित करें। डॉक्टर मधुमेह वाले लोगों को कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थों पर विशेष ध्यान देने के लिए कहते हैं। भिंडी में केवल 20 प्रतिशत ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, जिसे बहुत कम माना जाता है।

संपूर्ण चाणक्य निति
संपूर्ण चाणक्य निति
Tags: , , , , , , , , , , , , , ,