jaruri karan–hriday rog ke

जरूरी कारण–हृदय रोग के – पुरुष रोग का ज्योतिषी द्वारा उपचार – jaruri karan–hriday rog ke – purush rog ka jyotish dwara upchar

जरुरी कारण–ह्रदय रोग के
आइये जाने कुछ जरुरी कारण–ह्रदय रोग के डाक्टरी(चिकित्सीय) कारण

अनियमित व अनियंत्रित खानपान।
नियमित व्यायाम का अभाव।
भोजन की गुणवत्ता पर ध्यान नहीं देना।
भोजन लेने के ठीक बाद सोना।
वसायुक्त भोजन का अधिक मात्रा में सेवन करना।

काफी देर तक एक ही स्थिति में बैठने से हृदय रोग का खतरा बढ़ सकता है। खासकर महिलाओं के संदर्भ में यह अधिक खतरनाक हो सकता है।एक नए अध्ययन के मुताबिक, देर तक एक ही स्थिति में बैठी रहने वाली महिलाओं के फेफड़ों में रक्त का थक्का बनने का खतरा सक्रिय रहने वाली महिला की तुलना में दो से तीन गुना अधिक होता है, जो खतरनाक हो सकता है। यह पहला अध्ययन है जिसमें बताया गया है कि देर तक एक ही स्थिति में बैठे रहने से ‘पल्मोनरी इम्बोलिज्म’ का खतरा बढ़ सकता है, जो हृदय रोग का एक सामान्य कारण है।यह अध्ययन रिपोर्ट ‘ब्रिटिश मेडिकल जर्नल’ में प्रकाशित हुई है। इसके मुताबिक ‘पल्मोनरी इम्बोलिज्म’ तब होता है जब पैरों की नस से फेफड़ों तक होने वाला रक्त का प्रवाह जम जाता है। सांस लेने में कठिनाई, छाती में दर्द और कफ इसके लक्षण हैं।इस निष्कर्ष तक पहुंचने के लिए शोधकर्ताओं ने 69,950 महिला नर्सो का 18 साल तक अध्ययन किया। हर दो साल पर इनसे इनकी जीवनशैली को लेकर सवाल किए गए। उन्होंने पाया कि देर तक (काम के अतिरिक्त सप्ताह में 41 घंटे) बैठी रहने वाली महिलाओं में ‘पल्मोनरी इम्बोलिज्म’ का खतरा उन महिलाओं से दो गुना अधिक होता है, जो कम समय तक (काम के अतिरिक्त सप्ताह में 10 घंटे) बैठती हैं।

ये भी पढ़े :   योगाभ्यास में प्रमुख रूप से ये प्रयोग - पुरुष रोग का ज्योतिषी द्वारा उपचार - yogaabhyaas mein pramukh roop se ye prayog - purush rog ka jyotish dwara upchar

जरूरी कारण–हृदय रोग के – jaruri karan–hriday rog ke – पुरुष रोग का ज्योतिषी द्वारा उपचार – purush rog ka jyotish dwara upchar

संपूर्ण चाणक्य निति
संपूर्ण चाणक्य निति
Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Comment