कबूतर का घर में मरना शुभ है या अशुभ

कबूतर का घर में मरना शुभ है या अशुभ

कबूतर का घर में मरना कबूतरों को खाना खिलाना सभी को पसंद होता है। हममें से ज्यादातर लोग सुबह-सुबह कबूतरों को खाना भी खिलाते हैं। लेकिन अगर यह कबूतर घर में घोंसला बना ले तो लोगों को परेशानी होने लगती है। कबूतर अक्सर घर की बालकनी में या बाहर किसी कोने में अपना घोंसला बनाते हैं। हालांकि, उनकी पिटाई से घर बहुत गंदा होता और यही कारण है कि लोग कबूतरों को अपने घरों में घोंसला बनाने या भगाने नहीं देते हैं। अक्सर लोग यह भी मानते हैं कि कबूतर के घर में घोंसला बनाना दुर्भाग्य की निशानी है।

हर इंसान के जीवन में सुख-दुख, लाभ-हानि का सिलसिला चलता रहता है। लोगों के जीवन में भी घटनाएं होती रहती हैं। वहीं दैनिक जीवन में हो रही कुछ घटनाओं को लोग पहले से ही शुभ और अशुभ संकेत मान रहे हैं। ज्योतिष और वास्तु शास्त्र में ऐसे कई संकेत बताए गए हैं जो जीवन में आने वाली परेशानी या दुर्भाग्य के बारे में बता सकते हैं। आज हम कुछ ऐसे संकेतों के बारे में जानेंगे जो अशुभ माने जाते हैं।

कबूतर का घर में मरना

कबूतर का घर में मरना
कबूतर का घर में मरना

अगर घर की छत पर कोई मरा हुआ पक्षी या कबूतर या कोई पक्षी मृत पाया जाता है, तो समझ लें कि आपके बच्चे को कोई आपत्ति होने वाली है। बच्चे बीमार हो सकते हैं या उनका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है।

कबूतर का घोंसला बनाना शुभ होता है या अशुभ

घर में कबूतर का घोंसला बनाना – कुछ मान्यताओं की बात करें तो कबूतर को मां लक्ष्मी का भक्त माना जाता है. इसे देखते हुए कई लोग कबूतर का घर में प्रवेश करना शुभ मानते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अगर कबूतर घर में घोंसला बनाता है तो इससे परिवार में सुख-समृद्धि आती है। हालांकि कुछ लोगों का मानना ​​है कि कबूतरों का आना एक अशुभ संकेत है। इससे परिवार की प्रगति में बाधा आती है। ऐसे में अगर कबूतर बालकनी पर, छत के पास या अन्य जगहों पर अपना घर बनाते हैं तो उन्हें तुरंत हटा देना चाहिए वरना दिक्कतें आने लगती हैं.

Kundli dosh nivaran in hindi

छत पर कबूतर को दाना डालना

कबूतरों को खाना खिलाना पुण्य का काम माना जाता है और यह भी माना जाता है कि अगर आप पक्षियों को खाना खिलाते हैं तो कई तरह के ग्रह दोष दूर हो जाते हैं। शास्त्रों में कबूतर को शांति का प्रतीक माना गया है। लेकिन यह भी कहा जाता है कि कभी भी अपनी छत का इस्तेमाल कबूतरों को खिलाने के लिए न करें। यह भी कहा जाता है कि कबूतरों को घर की छत पर नहीं खिलाना चाहिए और उन्हें आंगन में नहीं रखना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ऐसा करने से बुध और राहु ग्रह के दोष दूर हो जाते हैं।

कबूतरों को खिलाने से कई बीमारियों से मुक्ति मिलती है। ऐसे घरों पर हमेशा मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है। परिवार में कोई कलह नहीं है। सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। कुंडली में बुध ग्रह की स्थिति खराब होने पर भी कबूतरों को अनाज अवश्य खिलाना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि यदि कुंडली में बृहस्पति ग्रह कमजोर हो तो कबूतर को पिंजरे से मुक्त करना लाभकारी होता है।

कबूतर से जुड़ी कुछ और शुभ अशुभ बातें

  • घर / दुकान में कबूतर के आने और घोंसला बनाने का मतलब है कि आपके जीवन में सुख-समृद्धि आने लगे।
  • घर में कबूतर का आना सुख-शांति के आगमन का संकेत देता है। यह दर्शाता है कि आपको कम समय में बड़ी सफलता मिल रही है।
  • पक्षी को अनाज खिलाने से ग्रह दोष दूर होते हैं। लेकिन कबूतर को घर की छत पर अनाज नहीं रखना चाहिए, बल्कि आंगन में अनाज रखना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ऐसे राहु ग्रह के दोष दूर होते हैं।
  • यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध कमजोर हो तो उसे कबूतर को जरूर खिलाना चाहिए। ऐसा करने से बुध के अशुभ प्रभाव को कम किया जा सकता है।
  • कबूतरों को दाना खिलाने से धन संबंधी परेशानियां दूर होती हैं। ऐसा करने से मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहेगी।
संपूर्ण चाणक्य निति
संपूर्ण चाणक्य निति
Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,