anant kaal sarp dosh

vishadhar kaal sarp dosh

विषधर कालसर्प दोष – बारहवां दिन – Day 12 – 21 Din me kundli padhna sikhe – vishadhar kaal sarp dosh – Barahavaan Din

राहू ग्यारहवे स्थान पर, केतु पाचवें स्थान पर और बाकी सभी गृह इन दोनों के मध्य फसे होने से कुंडली में विषधर कालसर्प दोष का निर्माण होता है ! विषधर कालसर्प दोष जातक के जीवन बहुत बुरा प्रभाव डालते है ! इस दोष के कारण जातक को आँख और हृदय रोग होते है, बड़े भाई …

विषधर कालसर्प दोष – बारहवां दिन – Day 12 – 21 Din me kundli padhna sikhe – vishadhar kaal sarp dosh – Barahavaan Din Read More »

karkotak kaal sarp dosh

कर्कोटक कालसर्प दोष – नौवां दिन – Day 9 – 21 Din me kundli padhna sikhe – karkotak kaal sarp dosh – Nauvan Din

कुंडली में जब राहू आठवें घर में, केतु दुसरे घर में और बाकि सभी गृह इन दोनों के मध्य फसे हो तो कर्कोटक कालसर्प दोष का निर्माण होता है ! कर्कोटक कालसर्प दोष के प्रभाव से जातक के जीवन पर बहुत बुरा असर पड़ता है, जातक हमेशा सभी के साथ कटु वाणी का प्रयोग करता …

कर्कोटक कालसर्प दोष – नौवां दिन – Day 9 – 21 Din me kundli padhna sikhe – karkotak kaal sarp dosh – Nauvan Din Read More »

kulik kaal sarp dosh

कुलीक कालसर्प दोष – तीसरा दिन – Day 3 – 21 Din me kundli padhna sikhe – kulik kaal sarp dosh – Teesara Din

जब कुंडली के दुसरे घर में राहू और आठवें घर में केतु और बाकी के सातों गृह राहू और केतु के मध्य स्थित हो तो यह कुलीक कालसर्प दोष कहलाता है ! जिस जातक की कुडली में कुलीक कालसर्प दोष होता है, वह जातक खाने और शराब पिने की गलत आदतों को अपना लेता है …

कुलीक कालसर्प दोष – तीसरा दिन – Day 3 – 21 Din me kundli padhna sikhe – kulik kaal sarp dosh – Teesara Din Read More »

anant kaal sarp dosh

अनंत कालसर्प दोष – दूसरा दिन – Day 2 – 21 Din me kundli padhna sikhe – anant kaal sarp dosh – Doosara Din

जब कुंडली के पहले घर में राहू , सातवे घर केतु और बाकि के सात गृह राहू और केतु के मध्य स्थित हो तो वह अनंत कालसर्प दोष कहलाता है ! अनंत कालसर्प दोष जातक की शादीशुदा जिन्दगी पर बहुत बुरा असर डालता है ! बितते वक्त के साथ जातक और जातक के जीवन साथी …

अनंत कालसर्प दोष – दूसरा दिन – Day 2 – 21 Din me kundli padhna sikhe – anant kaal sarp dosh – Doosara Din Read More »