;

Vedic Jyotish Shastra

shash yoga

शश योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Shash Yoga – vaidik jyotish Shastra

  शश योग को वैदिक ज्योतिष के अनुसार किसी कुंडली में बनने वाले बहुत शुभ योगों में से एक माना जाता है तथा यह योग पंचमहापुरुष योग में से एक है। पंच महापुरुष योग में आने वाले शेष चार योग हंस योग, माल्वय योग, रूचक योग एवम भद्र योग हैं। वैदिक ज्योतिष में शश योग …

शश योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Shash Yoga – vaidik jyotish Shastra Read More »

daily necessities and benefits to tish

तिष को दैनिक आवश्यकताओं और लाभ – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Daily necessities and benefits to Tish – vaidik jyotish Shastra

  प्राचीन काल में विज्ञान और ज्योतिष के अध्ययन पर पुजारियों का एकाधिकार था। ज्योतिष को दैनिक आवश्यकताओं और लाभ के लिए योजनाबद्ध किया गया था और उनका एक सफल साम्राज्य चल रहा था। ज्योतिषों को खगोल वैज्ञानिक माना जाता था और सितारों की गणना में कुशल होने के कारण उनका परामर्श लिया जाता था। …

तिष को दैनिक आवश्यकताओं और लाभ – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Daily necessities and benefits to Tish – vaidik jyotish Shastra Read More »

bhadra yoga

भद्र योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Bhadra Yoga – vaidik jyotish Shastra

  भद्र योग को वैदिक ज्योतिष के अनुसार किसी कुंडली में बनने वाले बहुत शुभ योगों में से एक माना जाता है तथा यह योग पंचमहापुरुष योग में से एक है। पंच महापुरुष योग में आने वाले शेष चार योग हंस योग, माल्वय योग, रूचक योग एवम शश योग हैं। वैदिक ज्योतिष में भद्र योग …

भद्र योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Bhadra Yoga – vaidik jyotish Shastra Read More »

study of constellations in astrology

ज्योतिष विद्या में नक्षत्रों का अध्ययन – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Study of constellations in astrology – vaidik jyotish Shastra

  भारतीय वैदिक ज्योतिषशास्त्र या ज्योतिष विद्या में नक्षत्रों का अध्ययन किया जाता है जो कि चंद्रमा द्वारा सितारों के संबंध में एक चक्र पूरा करने लगनेवाले अनुमानित संख्या पर आधारित हैं। प्राचीन भारतीय वैदिक ज्योतिष में विंशोत्तरी दशा चंद्र कैलेंडर के अनुसार चंद्रमा की स्थिति की भविष्यवाणी भारतीय परंपरा में सदियों से लागू की …

ज्योतिष विद्या में नक्षत्रों का अध्ययन – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Study of constellations in astrology – vaidik jyotish Shastra Read More »

interest totals

रूचक योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Interest totals – vaidik jyotish Shastra

  रूचक योग को वैदिक ज्योतिष के अनुसार किसी कुंडली में बनने वाले बहुत शुभ योगों में से एक माना जाता है तथा यह योग पंचमहापुरुष योग में से एक है। पंच महापुरुष योग में आने वाले शेष चार योग हंस योग, माल्वय योग, भद्र योग एवम शश योग हैं। वैदिक ज्योतिष में रूचक योग …

रूचक योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Interest totals – vaidik jyotish Shastra Read More »

astrological indicator

ज्योतिषीय संकेतक – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Astrological indicator – vaidik jyotish Shastra

  भारत में भारतीय वैदिक ज्योतिष के अनुसार सभी खगोलीय पिंडों, चाहे सूर्य , चंद्र , ग्रह या सितारें हो स्थलीय घटनाओं को प्रभावित करते हैं या अपने विभिन्न विन्यासओं द्वारा ऐसी घटनाओं के संकेत देते हैं। जन्म के समय ग्रहों और तारों का विन्यास एक आधारभूत जीवन की प्रवृत्ति, लक्षण, ताकत, कमजोरी का निर्धारण …

ज्योतिषीय संकेतक – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Astrological indicator – vaidik jyotish Shastra Read More »

malavya yoga

मालव्य योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Malavya Yoga – vaidik jyotish Shastra

  मालव्य योग को वैदिक ज्योतिष के अनुसार किसी कुंडली में बनने वाले बहुत शुभ योगों में से एक माना जाता है तथा यह योग पंचमहापुरुष योग में से एक है। पंच महापुरुष योग में आने वाले शेष चार योग हंस योग, रूचक योग, भद्र योग एवम शश योग हैं। वैदिक ज्योतिष में मालव्य योग …

मालव्य योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Malavya Yoga – vaidik jyotish Shastra Read More »

vedic astrology

वेदिक ज्योतिषशास्त्र – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Vedic astrology – vaidik jyotish Shastra

  भारत में ज्योतिष शास्त्र के अध्ययन की जड़ें वैदिक काल से देखी जाती है। ज्योतिषीय परंपराओं की झलक भारत के सबसे पवित्र ग्रंथों में से एक अथर्ववेद में दिखाई देती है। भारत में प्राचीन भारतीय वैदिक ज्योतिष शास्त्र जो कि ज्योतिष के नाम से प्रसिद्घ था, ज्योतिष का आधार कुछ तुलनात्मक स्थिर तारों के …

वेदिक ज्योतिषशास्त्र – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Vedic astrology – vaidik jyotish Shastra Read More »

swan yoga

हंस योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Swan yoga – vaidik jyotish Shastra

  हंस योग को वैदिक ज्योतिष के अनुसार किसी कुंडली में बनने वाले बहुत शुभ योगों में से एक माना जाता है तथा यह योग पंचमहापुरुष योग में से एक है। पंच महापुरुष योग में आने वाले शेष चार योग माल्वय योग, रूचक योग, भद्र योग एवम शश योग हैं। वैदिक ज्योतिष में हंस योग …

हंस योग – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Swan yoga – vaidik jyotish Shastra Read More »

originator of ancient scripture

आदिकालीन शास्त्र के प्रवर्तक – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Originator of ancient scripture – vaidik jyotish Shastra

  जो विद्वान इस विद्या के मर्म को जानते है, इसके गहन तत्वों को आत्मसात कर चुके है, वो भलीभान्ती जानते है कि इस आदिकालीन शास्त्र के प्रवर्तक ऋषियों-मुनियों,महर्षियों नें कहीं भी किसी ऎसे निर्दयी विधाता की सत्ता की कल्पना नहीं की,जो जैसे चाहे,जब चाहे,मनुष्य के साथ खेल खेलता रहे. इसके विपरीत यहाँ तो स्पष्ट …

आदिकालीन शास्त्र के प्रवर्तक – वैदिक ज्योतिष शास्त्र | Originator of ancient scripture – vaidik jyotish Shastra Read More »