ketu ka nauven bhaav - ketu grah - prabhaav aur upaay

केतु का नौवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka nauven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din

केतु का नौवें भाव में फल नौवां घर बृहस्पति का होता है जो केतू के पक्षधर हैं। नौवें भाव में केतू उच्च का माना जाता है। ऐसा जातक आज्ञाकारी और भाग्यशाली होता है। जातक का धन बढता है। यदि केतू शुभ हो तो जातक अपने प्रयासों से धनार्जन करता है। प्रगति होगी लेकिन स्थानांतरण नहीं होगा। यदि जातक अपने घर में सोनें की ईंट रखे तो धानागमन होता है। जातक का पुत्र भविष्य का अनुमान लगाने में सक्षम होगा। जातक अपने जीवन का एक बहुत बडा हिस्सा विदेशी भूमि में व्यतीत करता है। यदि चंद्रमा शुभ हो तो जातक अपने ननिहाल वालों की मदद करता है। यदि यहां पर केतू अशुभ हो तो जातक मूत्र विकार, पीठ में दर्द, और पैरों की समस्या से ग्रस्त होता है। जातक के बच्चे मरते जाते हैं।

उपाय

1. एक कुत्ते पालें।

2. घर में सोने का एक आयताकार टुकड़ा रखें।

3. कान में सोना पहनें।

4. बड़ों का सम्मान करें, विशेषकर ससुर का सम्मान जरूर करें।

केतु का नौवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – ketu ka nauven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – Aathavaan Din

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Comment