vastu shastra

mukhyadvaar va aapaka svaasthy

मुख्यद्वार व आपका स्वास्थ्य – स्वास्थ्य का वास्तु – mukhyadvaar va aapaka svaasthy – swasthya ka vastu

वास्तुअनुसार घर का मुख्यद्वार और आपका स्वास्थ्यवास्तु शास्त्र में घर या ऑफिस के मुख्य द्वार को सबसे अहम् माना गया है. यदि यह सही दिशा में ना हो तो उस घर में रहने वाले लोगो के स्वास्थ्य पर गहरा असर डाल सकता है. आइये जानते है स्वास्थ्य की दृस्टि से घर का मुख्यद्वार कैसा होना …

मुख्यद्वार व आपका स्वास्थ्य – स्वास्थ्य का वास्तु – mukhyadvaar va aapaka svaasthy – swasthya ka vastu Read More »

shauchaalay kee disha va aapaka svaasthy

शौचालय की दिशा व आपका स्वास्थ्य – स्वास्थ्य का वास्तु – shauchaalay kee disha va aapaka svaasthy – swasthya ka vastu

वास्तुअनुसार घर में बना टॉयलेट और आपका स्वास्थ्यआजकल घरों में जगह का अभाव होने के कारण बाथरूम और टॉयलेट एक साथ होना बहुत सामान्य बात है। वास्तुशास्त्र अनुसार ऐसा होना सही नहीं है। वास्तु अनुसार यदि घर का शौचालय उचित स्थान पर ना हो तो ये आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है. वास्तु अनुसार …

शौचालय की दिशा व आपका स्वास्थ्य – स्वास्थ्य का वास्तु – shauchaalay kee disha va aapaka svaasthy – swasthya ka vastu Read More »

vaidik vaastu shaastr ke anusaar kaisa ho aapaka pooja ghar

वैदिक वास्तु शास्त्र के अनुसार कैसा हो आपका पूजा घर – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik vaastu shaastr ke anusaar kaisa ho aapaka pooja ghar – vedic vastu shastra

हर घर में पूजा घर तो होते ही हैं! पूजा घर बनाते समय अधिकांश लोग कुछ बातों पर ध्यान नहीं देते! यदि पूजा घर भी वास्तु के नियमों के अनुसार बनाया जाए तो बेहतर होता है! वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा घर की दिशा, उसकी जगह, किस धातु से बना है मंदिर आदि.. और भी …

वैदिक वास्तु शास्त्र के अनुसार कैसा हो आपका पूजा घर – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik vaastu shaastr ke anusaar kaisa ho aapaka pooja ghar – vedic vastu shastra Read More »

vaidik kal kya hai vastu purush?

वैदिक कालक्या है वास्तुपुरुष? – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik kal kya hai vastu purush? – vedic vastu shastra

वास्तु पुरुष की कल्पना भूखंड में एक ऐसे औंधे मुंह पड़े पुरुष के रूप में की जाती है, जिससे उनका मुंह ईशान कोण व पैर नैऋत्य कोण की ओर होते हैं! उनकी भुजाएं व कंधे वायव्य कोण व अग्निकोण की ओर मुड़ी हुई रहती है! देवताओं से युद्ध के समय एक राक्षस को देवताओं ने …

वैदिक कालक्या है वास्तुपुरुष? – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaidik kal kya hai vastu purush? – vedic vastu shastra Read More »

vaastu shaastr dvaara grh klesh nivaaran

वास्तु शास्त्र द्वारा गृह क्लेश निवारण – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu shaastr dvaara grh klesh nivaaran – vedic vastu shastra

आज के आधुनिक युग में भवन निर्माण का कार्य अत्यन्त कठिन हो गया है! साधारण मनुष्य जैसे तैसे गठजोड़ करके अपने लिए भवन की निर्माण करता है! तब भी यदि भवन वास्तु के अनुसार न हो तो मनुष्य दुखी, चिंतित एवं परेशान रहने लगता है! वास्तु शास्त्र वस्तुतः कला भी हैं और विज्ञान भी ! …

वास्तु शास्त्र द्वारा गृह क्लेश निवारण – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu shaastr dvaara grh klesh nivaaran – vedic vastu shastra Read More »

vaastu purush ke dosh

वास्तु पुरुष के दोष – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu purush ke dosh – vedic vastu shastra

यह एक कठिन विद्या है, जिसमें भौतिक निर्माण कृत्य में कब कौन देवता क्रोधित हो जाए व क्या परिणाम देंगे, इनका ज्ञान आवश्यक है! कुछ सामानय गृह दोष व उनके परिणाम बताए जा रहे हैं, जो जनोपयोगी हैं! सामान्य जन इनका बिना किसी विशेषज्ञ की मदद से भी उपयोग कर सकते हैं! देवतागण यदि रुष्ट …

वास्तु पुरुष के दोष – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu purush ke dosh – vedic vastu shastra Read More »

vaastu mein kabaadakhaane ka mahatv

वास्तु में कबाड़खाने का महत्व – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu mein kabaadakhaane ka mahatv – vedic vastu shastra

वास्तु विज्ञान मनुष्य के चिरकालीन अनुभव का परिणाम है! यदि इसके सिद्धांतों का ठीक-ठीक पालन किया जाए तो निश्चित और तत्काल परिणाम मिलते हैं! विभिन्न वास्तु ग्रंथों में जीवन सुखी व समृद्ध बनाने के लिये घर के हर सदस्य को शयनकक्ष, भंडार, पूजा स्थल, भोजन कक्ष, मेहमान कक्ष, रसोई, शौचालय, नौकरों का कमरा, बैठक तथा …

वास्तु में कबाड़खाने का महत्व – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu mein kabaadakhaane ka mahatv – vedic vastu shastra Read More »

vaastu anusaar kahaan ho baatharoom… (uttar-poorv mein rakhen paanee ka bahaav)

वास्तु अनुसार कहाँ हो बाथरूम… (उत्तर-पूर्व में रखें पानी का बहाव) – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu anusaar kahaan ho baatharoom… (uttar-poorv mein rakhen paanee ka bahaav) – vedic vastu shastra

घर को बाद में बनवाया जाता है पहले पानी की व्यवस्था देखी जाती है! आजकल कम से कम लोग ही प्राकृतिक पानी का उपयोग करते है पानी अधिकतर या तो सरकारी स्तोत्रों से सुलभ होता है या फ़िर अपने द्वारा ही बोरिंग आदि करवाने से प्राप्त होता है! बाथरूम यह मकान के नैऋत्य; पश्चिम-दक्षिण कोण …

वास्तु अनुसार कहाँ हो बाथरूम… (उत्तर-पूर्व में रखें पानी का बहाव) – वैदिक वास्तु शास्त्र – vaastu anusaar kahaan ho baatharoom… (uttar-poorv mein rakhen paanee ka bahaav) – vedic vastu shastra Read More »

rasoee vaastu - chuisinai vaastu

रसोई वास्तु – Cuisine Vaastu – वैदिक वास्तु शास्त्र – rasoee vaastu – chuisinai vaastu – vedic vastu shastra

घर की रसोई भूखंड के अग्नि कोण में होनी चाईए | पुनः रसोई के अग्नि कोण में चूल्हा होना चाईए | रसोई के बाहर से देखने पर चूल्हे की अग्नि नहीं दिखाई देनी चाईए | सिंक या चूल्हे के ऊपर पूजा घर नहीं रखना चाईए | रसोई को किसी भी सूरत में ईशान कोण में …

रसोई वास्तु – Cuisine Vaastu – वैदिक वास्तु शास्त्र – rasoee vaastu – chuisinai vaastu – vedic vastu shastra Read More »

bhaarateey vaastu shaastr

भारतीय वास्तु शास्त्र – वैदिक वास्तु शास्त्र – bhaarateey vaastu shaastr – vedic vastu shastra

आधुनिक युग में, आज वास्तु शास्त्र वैज्ञानिकता के आधार पर एक नया मोड ले चुका है, क्यों कि पश्चिमी सभ्यता की चकाचौंध नें मानव जाति को कुछ अधिक ही प्रभावित किया है, जिससे कि अपनी मूलभूत धरोहर प्राचीन ज्ञान को आज हम विज्ञान(साईंस) के नाम से संबोधित करने लगे हैं. किन्तु जब प्राचीन वास्तु ज्ञान …

भारतीय वास्तु शास्त्र – वैदिक वास्तु शास्त्र – bhaarateey vaastu shaastr – vedic vastu shastra Read More »